किराना—सूखा मेवा

Hello world!
June 8, 2017
सौंठ में तेजी के योग
September 5, 2017
Show all

किराना—सूखा मेवा

मेड़िया। खपत वाली मंडियों की खरीद और बारंगल, गुण्टूर में पिछले 10/15 दिनों के दौरान आई तेजी के कारण मध्य प्रदेश की मंडियों में भी लाल मिर्च कीमत में तेजी आई है। हालांकि बढ़े हुए भावों पर गत सप्ताह लिवाल पिछे हट गया फिर भी नई फसल शुरू होने में अभी डेढ़ महीने का समय शेष है। इसलिए कीमत में गिरावट के आसार दिखाई नहीं दे रहे हैं।
गुण्टूर में लाल मिर्च स्टॉक पिछले वर्ष के मुकाबले अधिक बना हुआ है। इस समय बिजााई की तस्वीर पूरी तरह साफ नहीं है। इसलिए भावों में गिरावट आते ही बिकवाल सीमित हो जायेगा।
लाल मिर्च की फसल आ आगमन सबसे पहले मध्य प्रदेश में होगा जिस प्रकार फसल खेतों में खड़ी हुई है। उसको देख नये माल का आगमन अक्टूबर माह के दौरान होने के अनुमान लगाये जा रहे हैं यदि उत्पादन पर नजर डाली जाय तो पैदावार पिछले वर्ष के मुकाबले काफी कम आने के आसार हैं जो पिछले 20/25 दिनों के दौरान आई तेजी का कारण है।
व्यापारिक सूत्रों के अनुसार इस वर्ष मध्य प्रदेश के उत्पादक क्षेत्रों में लाल मिर्च की बिजाई पिछले वर्ष के मुकाबले आधी हुई है। बिजाई को देख पिछले महीने ही उत्पादन मात्र 7/8 लाख बोरी होने के अनुमान लगाये जा रहे थे क्योंकि गत वर्ष पैदावार 12/13 लाख बोरी के लगभग थी।
फसल पर वायरस का प्रकोप गत वर्ष की तरह इस वर्ष भी देखा जा रहा है। इस समय फसल की स्थिति को देख उत्पादन 5/6 लाख बोरी पर सीमित होने की संभावना है। हालांकि बहुत कुछ अभी मौसम पर निर्भर करेगा।

Comments are closed.