हल्दी का भविष्य मौसम के रूख पर

धनिया में गिरावट मुश्किल
September 5, 2017
फसल के दबाब से बड़ी इलायची मंदी के भंवर में
September 5, 2017
Show all

हल्दी का भविष्य मौसम के रूख पर

निजामाबाद। हल्दी में कभी लिवाल आने से कीमत में 100/200 रुपये की वृद्धि और कभी बिकवाल आने से इतनी ही गिरावट गत सप्ताह के दौरान देखी गयी। गत सप्ताह के मध्य में भाव नरमी दर्ज कर 7500 रुपये (गठठा) रह गया। इस समय बाजार के रूख को देख आगामी दिनों विशेष मंदी तेजी के आसार नहीं है क्योंकि लिवाल और बिकवाल दोनों की निगाह मौसम के ऊपर लगी हुई है। आगामी 15/20 दिनों के मौसम बाजार की चाल बदल सकती है।
इस वर्ष ईरोड में बिजाई वर्षा की कमी से कमजोर बताई जा रही है लेकिन अब उत्पादक क्षेत्रों में बिजाई की स्थिति शानदार रही है। बिजाई की तस्वीर आगामी 10/15 दिनों में काफी साफ हो जायेगी और मौसम के रूख को देख उत्पादन के अनुमान सामने आने लगेंगे, जिन्हें देख लिवाल और बिकवाल अपनी रणनीति में बदलाव कर सकते हैं।
देशभर में यदि हल्दी स्टॉक और खपत पर नजर डाली जाय तो स्टॉक खपत के मुकाबले काफी अधिक है। बिजाई क्षेत्र को देख उत्पादन में भी कमी के आसार अभी तक दिखाई नहीं दे रहे हैं इसी के चलते लिवाल सीमित मात्रा में बना हुआ है। जबकि स्टॉकिस्टों का कहना है कि चालू सीजन के दौरान कोई भी शानदार आई तेजी का अनुमान नहीं लगा रहा था जो पिछले एक/डेढ़ महीने के दौरान आ गयी। इसलिए कहा जा रहा है कि हल्दी में सटोरिये सक्रिय हो गये हैं जो कीमत को घटने नहीं देंगें। इसलिए पिछले 10/15 दिनों से लिवाल और बिकवाल दोनों सीमित हैं।

Comments are closed.