ग्वार में मंदी—तेजी वर्षा के ऊपर

बाजरा मंदी के जाल से बाहर
September 5, 2017
Show all

ग्वार में मंदी—तेजी वर्षा के ऊपर

जोधपुर। उत्पादक क्षेत्रों में वर्षा की कमी के कारण फिर एक बार ग्वार तेजी की पटरी पर आने का प्रयास कर रहा है। पिछले 10/15 दिनों के दौरान देखा जाय तो कीमत में सुधार आया है। यह सुधार तेजी में तभी बदल सकता है। जब वर्षा की कमी आगामी 15/20 दिनों तक और रहती है। इसलिए स्टॉकिस्टों की निगाह मौसम पर लगी हुई है। जिसको देख ही अपनी रणनीति में बदलाव करेंगे।
चालू सीजन के दौरान ग्वार के भाव 4000 रुपये के पार पहुंचक गये थे। लेकिन उस समय 4500 रुपये प्रति क्विंटल पर पहुंचने की संभावना थी जब संभावना हकीकत में बदलने लगी तो फिर कीमत 5000 रुपये पर पहुंचने के अनुमान लगने लगे जो हकीकत में नहीं बदल पाया। इसलिए उस समय कीमत बढ़ने के पश्चात भी स्टॉकिस्टोां के पास माल अच्छा खासा मौजूद रहा है।
उत्पादकों को कीमत नीची मिलने के कारण इस वर्ष बिजाई क्षेत्र में कमी आने की संभावना व्यक्त होने लगी, लेकिन यह संभावना ही रही गयी। अभी तक उत्पादक क्षेत्र राजस्थान में बिजाई क्षेत्र इतना बढ़ गया है कि कुल बिजाई देशभर में पिछले वर्ष के मुकाबले अच्छी खासी बढ़त के साथ देखी जा रही है।
पिछले 10/15 दिनों से वर्षा की कमी से बाजार फिर मजबूत हुआ है। जो पूरी तरह मौसम के ऊपर निर्भर करेगा, इसलिए स्टॉकिस्टों की निगाह मौसम पर लगी हुई है और भाव घटाकर बिकवाल नहीं है। ध्यान रहे कि गत सप्ताह ग्वार का कारोबार 3650 रुपये और गम का 8000/8050 रुपये पर हुआ। अधिकांश कारोबारी कीमत 4000 रुपये पर पहुंचने के आसार हैं किन्तु यह अभी आगामी 8/10 दिनों के मौसम पर निर्भर करेगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *